वेबीनार को संबोधित करते हुए राज्य नोडल अधिकारी अनिल मलिक।
HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

बच्चों को डांटे नहीं, बल्कि उनके प्रश्रों के जवाब दें: अनिल मलिक

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – माता-पिता व बच्चों के मध्य बेहतर संवाद प्रक्रिया तथा जिज्ञासा से उत्पन्न सवालों का समय रहते समाधान करते हुए बच्चों का बेहतर मार्गदर्शन किया जा सकता है। यह बात मंडलीय बाल कल्याण अधिकारी रोहतक एवं राज्य नोडल अधिकारी अनिल मालिक ने कही। वे उपमंडल के गांव करसिंधु स्थित वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों, अभिभावकों एवं शिक्षकों को वेबीनार के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बाल्यावस्था से प्रेरणादायी, सहयोगात्मक, मित्रवत वातावरण व परवरिश के तौर-तरीकों से तनाव प्रदान करने वाली उत्पन्न परिस्थिति से कुछ हद तक बचा जा सकता है। संगीत विद्या से भी तनाव प्रबंधन किया जा सकता है। संगीत एक थेरेपी है जो बहुत कारगर सिद्ध हो सकती है, इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, एकाग्रता बढ़ती है, भावनाएं जागृत होती हैं। आध्यात्म से हम पुन: उर्जित होते हैं। निषेधात्मक, निराशावादी, संचयात्मक चिंतन दृष्टिकोण इंसान में तनाव की उत्पत्ति के मुख्य कारक है।

रहन-सहन में नियमितता, परस्पर स्नेह व सद्भाव तनाव से मुक्ति के द्वार हैं। खुद को तनावग्रस्त न होने देने के लिए दृढ़निश्चय, लग्न, निष्ठापूर्ण सही काम करने चाहिए। माता-पिता को बच्चों के व्यवहार में मानसिक स्थिति में होने वाले बदलाव पर नजर रखनी चाहिए। तनाव का कारण समझे, मुश्किलें सांझा करें, कोई परेशानी होने पर उन्हें सहानुभूतिपूर्वक समझाएं। तनाव की परिस्थितियां मनोवैज्ञानिक, मनोदैहिक व शारीरिक होती हैं। पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों की दिनचर्या रचनात्मक व्यस्तता भरी होनी चाहिए। इंटरनेट, मोबाइल व सोशल मीडिया से दूरी आवश्यक हैं। घर का वातावरण आदर्श बनाए रखें, बच्चों के सवालों का जवाब दें उन्हे डांटे नहीं, कभी किसी से तुलना ना करें, हमेशा प्रोत्साहित करें। सकारात्मक कार्यशैली से ही तनाव प्रबंधन बेहतर किया जा सकता है इसलिए हमेशा मुस्कुराए कि आप खास हैं। सुबह और शाम की सैर आवश्यक रूप से करें, संगीत, प्रेरणादायक पुस्तके पढ़ें, पेड़-पौधों के प्रति लगाव व संगति अत्यंत लाभदायक है। कार्यक्रम की अध्यक्षता स्कूल प्रिंसिपल डा. नरेश वर्मा व कार्यक्रम अधिकारी मलकीत चहल ने की।

186
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *