शराब घोटाले पर पर्दा डालने का काम कर रही है सरकार: रणदीप सुरजेवाला
Big News HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

शराब घोटाले पर पर्दा डालने का काम कर रही है सरकार: रणदीप सुरजेवाला

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सफीदों में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि शराब घोटाले पर सीएम मनोहर लाल व उनकी सरकार पर्दा डालने का काम कर रही है। वे मंगलवार को सफीदों के डाक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों व पुलिस कर्मचारियों को पीपीई किट व मास्क का वितरण करने के लिए पहुंचे थे।  सुरजेवाला ने कहा कि सीएम मनोहर लाल ने कहा था कि 31 मई तक इस घोटाले की जांच रिपोर्ट आ जाएगी लेकिन वह रिपोर्ट अभी तक नहीं आई। प्रदेश की जनता सरकार से जानना चाहती है कि आखिर वह रिपोर्ट आएगी कब? दरअसल सरकार इस घोटाले की जांच को फुटबॉल बनाए हुए हैं। सरकार ने इस मामले में स्पेशल इंक्वायरी टीम गठित की हुई जिसके पास कोई लंबे-चौड़े अधिकार नहीं है। केवल एसआईटी के पास ही मुकदमा दर्ज करने, गिरफ्तारी करने, रेड करने के अधिकार है लेकिन सरकार ने शराब माफिया के दबाव में आनन-फानन में गृहमंत्री की सिफारिश को दरकिनार करके उसे स्पेशल इंक्वायरी टीम में तब्दील कर दिया। इस टीम में ऐसे एडीजीपी को लगाया गया जिन्हे 31 मई को रिटायर होना था। अब नए मुखिया टीसी गुप्ता का कहना है कि एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग उन्हें कागज नहीं दिखा रहा। इस मामले में इस टीम को दो साल का रिकॉर्ड खंगालना है लेकिन एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग विभाग इस टीम को कागज नहीं दिखा रहा, इससे बड़ी शर्म की बात क्या हो सकती है। सरकार ने अब इस जांच टीम के कार्यकाल को दो महीने बढ़ा दिया गया है। रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि स्पेशल इंक्वायरी टीम के ना तो आंख है, ना कान है, ना दांत हैं, ना पांव है और ना ही हाथ हैं। दरअसल सरकार इस मामले को घोलना चाहती है। कांग्रेस पार्टी सरकार से सवाल करती है कि आखिर शराब माफिया को कौन बचा रहा है और इस माफिया के तार किन-किन अधिकारियों व राजनीतिज्ञों को से जुड़े हुए हैं। इस मौके पर उनके साथ विधायक सुभाष गांगोली, यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र खर्ब, अनिल कुंडू, दिनेश जामनी, राकेश गुर्रा सिल्लाखेड़ी, रणबीर सरंपच भुसलाना भी आदि मुख्य रूप से मौजूद रहें।  
बाक्स:
वर्तमान शासन में संगठित अपराध चरम पर
सफीदों में व्यापारी से फिरौती मांगने के मामले में रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आज प्रदेश में संगठित अपराध चरम सीमा पर है और उसी का नतीजा है कि सफीदों में व्यापारी सतीश जैन से फिरौती की मांग की गई है। यह मामला अत्यंत गंभीर है और वे इस मामले में कड़ी से कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि संगठित अपराध को कांग्रेस शासन ने प्रदेश से खत्म कर दिया था लेकिन इस सरकार में संगठित अपराध फिर से पनप गया है। सीएम मनोहर लाल अपराध को रोक पाने में असमर्थ साबित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सफीदों के अंदर करीब एक दर्जन अच्छे डॉक्टर हुआ करते थे लेकिन बदमाशों द्वारा उन्हें यहां से धमकाकर भगा दिया गया। वहीं जींद व सफीदों के व्यापारी बदमाशों के भय से यहां से छोड़कर दिल्ली, चंडीगढ़ व अन्य शहरों में चले गए हैं और इसी प्रकार पानीपत के व्यापारी पीडि़त हैं। उन्होंने सरकार से मांग की कि इस संगठित अपराध पर तुरंत रोक लगाए। 
बाक्स:-
सरकार में चल रहा है नूराकुश्ती का खेल
नगरपालिका प्रधान के चख्ुनाव सीधे तौर पर करवाए जाने के सवाल पर रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मनोहर लाल खट्टर सरकार हर मामले में नूराकुश्ती कर रही है। इस मामले में कभी कोई ब्यान तो कभी कोई ब्यान दिया जा रहा है। इस मामले समेत अन्य किसी भी मामले में सरकार का कोई क्लीयर स्टैंड नहीं है। सीएम से लेकर मंत्री तथा मंत्री से लेकर विधायक तक के ब्यान अलग-अलग होते हैं। यहां पर सवाल यह खड़ा होता है कि इस सरकार को आखिर चला कौन रहा है। यह आज की विडंबना भी है और वास्तविकता भी। 

सफीदों के निजी अस्पतालों में पीपी कीट वितरित करते हुए राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला

मेरा प्रयास रामसेतू में गिलहरी के कंकर जैसा रणदीप सुरजेवाला ने सफीदों क्षेत्र के डॉक्टरों को पीपीई किट, एन-95 मास्क, सोडियम हाईपोक्लोराईट सॉल्यूशन प्रदान करते हुए कहा कि उनका व कार्यकत्र्ताओं का यह प्रयास रामसेतू में गिलहरी के कंकर जैसा है। नर ही नारायण है और मनुष्य सेवा ही ईश्वर की सेवा है। भारतीय संस्कृति के इस अमिट सिद्धांत पर वे कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से इस लड़ाई में हमारे कोरोना वॉरियर यानि डॉक्टर साथियों को सुरक्षित रखने तथा जनता के उपचार में सहयोग करने का यह सही रास्ता है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही जींद जिले के सभी पुलिस थानों में काम करने वाले हर पुलिसकर्मी तक एन-95 मास्क भी कांग्रेस की ओर से पहुंचाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जनसेवा की इस मुहिम को जिला कैथल, कुरुक्षेत्र व जींद जिले में चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता में रहते हुए भी भाजपा-जजपा सरकार सेवा के इस भाव से पूरी तरह से उदासीन है। भाजपा के नुमाईंदे मुख्यमंत्री कोष के लिए पैसा लेने के लिए तो प्रकट हो जाते हैं पर सेवा के नाम पर कोरोना महामारी की आड़ में छिप जाते हैं। उम्मीद है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं के इस सेवा भाव का खट्टर सरकार अनुसरण करेगी।

611
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.