छात्र के हक में स्कूल पहुंचे एबीवीपी के हल्का प्रधान अजीत पाथरी एवं पदाधिकारी कार्यकर्ता।
HARYANA SAFIDON Sansani VS NEWS INDIA

प्राचार्य ने छात्र को नहीं दिया रोल नंबर छात्र का एक वर्ष हुआ खराब

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – खंड के एक प्राचार्य ने 12वीं कक्षा के एक खिलाड़ी छात्र का भविष्य खराब कर दिया। राजकीय मॉडल वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सफीदों के प्राचार्य भारत भूषण ने मंगलवार को 12वीं कक्षा के छात्र अंकित को ना तो रोल नंबर दिया और ना ही उसे परीक्षा केंद्र में बैठने दिया। ऐसे में खिलाड़ी छात्र अंकित व उसके पिता सतबीर ने प्राचार्य के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। साथ ही एबीवीपी के नेता अजीत  पाथरी ने भी छात्र के हक में खड़े होकर प्राचार्य के खिलाफ प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है। 12वीं कक्षा के हिंदी की पेपर में छात्र अंकित  को नहीं बैठने देने पर उसका एक वर्ष खराब हो गया है। सफीदों शहर निवासी छात्र अंकित व उसके पिता सतबीर ने बताया कि वह 11  फरवरी से 25 फरवरी तक बैंगलुरू में जस्ट कबड्डी खेलने के लिए प्राचार्य के पास छुट्टी लेने आया था। जिस समय प्राचार्य ने बिना  अप्लीकेशन लिए ही मौखिक तौर पर छुट्टी देने की बात कही थी और साथ ही बाद प्रैक्टिकल लेने की बात कहते हुए खेलने जाने के लिए कह दिया था। लेकिन परीक्षा से ठीक एक दिन पहले उसे रोल नंबर देने से मना कर दिया। इससे पहले प्राचार्य द्वारा ना तो छात्र व अभिभावक को छात्र अंकित का नाम काटने की कोई सूचना दी और ना ही प्रैक्टिकल की तिथि बताई गई। लेकिन जब वह खेलकर वापिस आया तो प्राचार्य भारतभूषण ने पै्रक्टिकल लेने व रोल नंबर देने से साफ मना कर दिया। ओर तो ओर प्राचार्य ने उसके रोल नंबर को 27 फरवरी को ही बोर्ड में वापिस भेजने की बात कही। 

बाक्स:-
एबीवीपी नेता अजीत पाथरी भी प्राचार्य की रिकवेस्ट करने के लिए स्कूल पहुंचे, लेकिन प्राचार्य ने छात्र का परीक्षा के लिए रोल नंबर देने  से बिल्कुल की मना कर दिया। उन्होंने कहा कि छात्र अंकित स्कूल का नाम रोशन करने के लिए खेलने के लिए दूसरे प्रदेश गया था।  स्कूल द्वारा अंकित के भविष्य के साथ सरासर खिलवाड़ कर रहा है। एबीवीपी कार्यकत्र्ताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर छात्र को परीक्षा में बैठने नहीं दिया गया तो वे प्रदर्शन करेंगे और उच्च अधिकारियों से प्राचार्य के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। 
बाक्स:-
प्रचार्य ने कहा:- छात्र रहा 15 दिन अनुपस्थित और नहीं दिया पै्रक्टिकल इस मामले में जब प्राचार्य भारतभूषण से बात की गई तो उन्होंने कहा कि छात्र अंकित द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं।  छात्र अंकित 11 से 25 फरवरी तक स्कूल में अनुपस्थित रहा है और उसने प्रैक्टिकल तक भी नहीं दिया। जिसका 17 फरवरी को ही  नाम काट दिया गया था। स्कूल से नाम कटने वाला केवल छात्र अंकित ही नहीं है इसके अलावा दो अन्य छात्रों के भी नाम इन्ही कारणों से काटे गए हैं। नियमों के तहत इन तीनों छात्रों के नाम काटकर इनके रोल नंबर 27 फरवरी को ही बोर्ड को वापिस भेज दिए गए थे।  प्राचार्य ने कहा कि अगर छात्र से रोल नंबर लाता है तो ही उन्हें परीक्षा में बैठने दिया जाएगा। 

697
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *