साइकिल चलाने से शरीर स्वस्थ रहता है :-राजेश वशिष्ठ
HARYANA JIND VS NEWS INDIA

साइकिल चलाने से शरीर स्वस्थ रहता है :-राजेश वशिष्ठ

VS News India | जींद :- विश्व साईकिल दिवस पर पहला कदम फाउंडेशन के सदस्यों ने साईकिल चलाकर लोगो को सन्देश दिया।राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश वशिष्ठ ने बताया कि शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो, जिसने कभी साइकिल की सवारी न की हो। वाहन के तौर पर या फिर शरीर को स्वस्थ रखने में साइकिल का इस्तेमाल जरूर किया होगा। कई बीमारियों को कंट्रोल में रखने में भी साइकिल कारगर है। आज साइकिल का चलन कम हुआ है। इसके पीछे की वजह लोगों को साइकिल चलाने के फायदों की जानकारी न होना है। परंतु, आज भी कई लोग ऐसे हैं जो शरीर को स्वस्थ रखने के प्रति सचेत हैं। वे रोजाना सुबह-शाम साइकिल चलाते हैं। साइकिल से सेहत सुधरने के साथ, मानसिक तनाव भी दूर होता है। लोगों को स्वस्थ रखने के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा 3 मई को साइकिल दिवस घोषित किया था। इस दिन लोगों को साइकिल का इस्तेमाल करने के लिए जागरूक किया जाता है। व्यस्त दिनचर्या में व्यक्ति अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना ही भूल गया है। जिसके चलते कम उम्र में ही लोग मधुमेह, रक्तचाप, कैंसर समेत कई घातक बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं। लेकिन अपनी दिनचर्या में ही व्यायाम करने को शामिल किया जा सकता है। पैदल चलने की बजाए साइकिल से सफर करना सेहत के लिए ज्यादा लाभकारी होगा। साइकिल की आदत सेहत सुधारने के साथ वातावरण को शुद्ध करने में भी कारगर है। कोरोना काल में साइकिल का चलन फिर से बढ़ा है। वर्क फ्रॉम होम शुरू हुआ। तो, लोगों ने दफ्तर के काम के साथ अपनी सेहत पर भी काम करना शुरू किया। योग, प्राणायाम, व्यायाम के साथ साइकिल चलानी शुरू कर दी। साइकिल का महत्व: साइकिल परिवहन का स्वच्छ व सस्ता माध्यम है। इससे पर्यावरण प्रदूषित नहीं होता। यह फिटनेस की दृष्टि से भी उपयोगी है। इससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। रोजाना 15 से 20 मिनट साइकिल चलाने से मोटापा कम होता है। शरीर में रक्त संचार सही रहता है। लंबे समय तक शरीर रोगमुक्त रहता है। साइकिल चलाना एक मनोरंजनात्मक व्यायाम है। शरीर को स्वस्थ रखने में साइकिल चलाना बहुत कारगर है। प्रत्येक व्यक्ति को अपनी दिनचर्या में इसे शामिल करना चाहिए। इससे मोटापा, कॉलेस्ट्रॉल आदि कम होता है। जिससे ह्रदय संबंधित बीमारियां दूर रहती है। व्यस्त दिनचर्या में जो लोग साइकिलिग नहीं कर सकते। वह बाजार से दूध, ब्रेड, सब्जी आदि सामग्री लाने में साइकिल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे शरीर लचीला होता है। जोड़ों की बीमारियां भी दूर रहती है।पहला कदम फाउंडेशन के सभी सदस्यों ने शपथ ली कि वे प्रतिदिन घर के जरूरी कार्यों में साईकिल का प्रयोग करेंगे ।आज मुख्य रूप से मनोज एडवोकेट ,विक्रम मलिक ,श्वेता ,संतरों ,मंजीत ,जीनल ,अनुज ,नव्या आदि ने अपना योगदान दिया । 

510
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *