HARYANA SAFIDON Sansani VS NEWS INDIA

धर्मगढ़ बोहली में माईनर के पास बंधी एक गाय की खूंटे में फांसी लगने से मौत

VS News India | Sanjay Kumar | Safidon : – उपमंडल सफीदों के गांव धर्मगढ़ बोहली में माईनर के पास बंधी एक गाय की खूंटे में फांसी लगने से मौत हो गई लेकिन क्षेत्र में गौकसी होने की अफवाह फैल गई। मामले की सूचना सफीदों पुलिस व गौरक्षा सेवा दल को जैसे ही मिली, वे मौके पर पहुंचे। वहां पर हालातों व कारणों को जानने के बाद गौपालक किसान पर 5100 रूपए जुर्माना लगाकर व गाय को दफनाकर मामले का पटाक्षेप कर दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार गांव धर्मगढ़ बोहली के किसी व्यक्ति ने गौरक्षा सेवा दल के अध्यक्ष अजय मालहा को सूचना दी कि गांव में गाय को किसी ने मार दिया है। उसके बाद अजय माहला ने सोशल मीडिया पर लिखा कि सभी गौसेवक जल्द से जल्द पुरानी चुंगी सफीदों पर पहुंचे और गांव धर्मगढ़ बोहली में गौमाता को फोड़े के साथ काटकर मार दिया है और उसे साथ लगती माईनर में डाल दिया है। इस मैसेज के बाद कुछ तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई।

काफी तादाद में गौभक्त नगर की पुरानी चुंगी पर इक्कठा हो गए और वहां से गांव धर्मगढ़ में पहुंचे। वहीं इसी सूचना सफीदों पुलिस को लगी तो सदर थाना के एएसआई मलकीत सिंह भ्भी अपनी टीम के साथ गांव में पहुंच गए। म्म्गांव में पहुंचकर गौरक्षा सेवा दल के कार्यकम्त्र्ता व पुलिस माईनर के साथ लगते रहने वाले किसान तखत सिंह के घर पर पहुंचे और उससे पूछताछ की। किसान तखत सिंह ने बताया कि वह अपनी गाय हर रोज माइनर के साथ लगती खाली जगह में खूंटे से बांधता था। उसे किसी कार्य से परिवार के साथ 31 जुलाई को बाहर जाना पड़ गया था और गाय यहीं खूूंटे से बंधी रह गई थी। पीछे से यहां आए दो सांडों के बीच लड़ाई हो गई और वे इस गाय से जा भिंडे। उनकी टक्कर में गाय साथ लगती माइनर में जा गिरी और गले में डली रस्सी खूंटे से बंधी होने के कारण उसको अचानक फांसी लग गई, जिसके कारण उसकी मौत हो गई। जब वह अपने घर पर वापिस आए तो गाय मरी हुई माइनर में पड़ी हुई मिली थी।

उसके बाद उन्होंने गाय को निकालने के लिए अपने बेटे व अन्य लोगों को काफी कहा लेकिन वे हर रोज कल पर टाल देते थे, जिसके कारण गाय का शव पानी में पड़ा होने के कारण गल गया और सडांध मारने लगा। तखत सिंह ने सभी के सामने अपनी गलती को स्वीकार करते हुए कहा कि वे पूरे मान-सम्मान के साथ गाय को दफनाएंगे और उसने पंचायती तौर पर 5100 रूपए गौशाला में बतौर जुर्माना देने की बात कही। उसके बाद मामला शांत हो गया। इस मामले में एएसआई मलकीत सिंह ने कहा कि किसान ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए पूरे सम्मान के साथ गाय को दफनाने व पंचायती तौर पर 5100 रूपए जुर्माना देने की बात कही है। किसी प्रकार का कोई तनाव नहीं है और पूरा मामला पंचायती तौर पर निपट गया है।

314
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.