बेटियां बेटों से बढकर हैं चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो या खेल का मैदान हो
HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

बेटियां बेटों से बढकर हैं चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो या खेल का मैदान हो

VS News India : – बेटियां बेटों से बढकर हैं चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो या खेल का मैदान हो,हर क्षेत्र में बेटियों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है।एक ऐसी ही होनहार बेटी याशिका धारीवाल ने नेशनल पैनचक सीलाट प्रतियोगिता में अण्डर-14 आयु वर्ग में गोल्ड मैडल जीतकर हरियाणा का नाम रोशन किया है। हिसार जिला के नारनौंद उपमण्डल के गांव खेडी लोहचब में जन्मी याशिका 7वीं कक्षा की छात्रा है और वर्तमान में गुरूग्राम पालम विहार स्थित नारायणा ई-टेक्नो स्कूल में पढती है। उसकी इस शानदार उपलब्धी पर गांव खेडी लोहचब में खुशी का माहौल है।इस बाल प्रतिभावान बेटी के दादा ठण्डीराम जागडा,पिता कुलदीपसिंह (शिक्षक),माता शकुन्तला (शिक्षक),कोच अमनीश कुमार व रिटायर्ड डीआईपीआरओ सुरेन्द्र वर्मा कोथखुर्द व मा0 रणबीर सिंह जागडा कोथखुर्द एवं राखी बारहा कल्याण मंच व अन्य ग्रामीण फूले नहीं समा रहे हैं।

उन्होंने होनहार बेटी को बधाई व आशीर्वाद देते हुए उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उसके पिता कुलदीपसिंह ने बताया कि इसी प्रतियोगिता में याशिका के भाई देवकुमार ने भी अण्डर-12 आयु वर्ग में ब्रान्ज मैडल प्राप्त कर अपने क्षेत्र व प्रदेश का नाम रोशन किया है इस प्रकार मैडल प्राप्त इन दोनों होनहार बाल खिलाडियों पर उन्हें व पूरे परिवार एवं गांव वालों को गर्व है।यह प्रतियोगिता श्रीनगर स्थित इंडोर स्पोर्टस काम्पलेक्स में गत 27 मार्च से 31 मार्च तक आयोजित की गई थी और इसमें देश के विभिन्न प्रदेशों के लगभग 2200 बाल खिलाडियों ने भाग लिया था। राखी बारहा कल्याण मंच के मीडिया प्रभारी सुरेन्द्र वर्मा ने भी दोनों बाल खिलाडियों की प्रतिभा को सराहते हुए कहा कि बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से कम नही हैं इसलिए बेटियों को आगे बढने के लिए सुअवसर दिये जाने चाहिएं तभी बेटियां नई बुलन्दियों को छू सकती हैं।याशिका की मां शकुन्तला ने बताया कि इससे पूर्व भी याशिका जिला व राज्य स्तर पर स्वर्ण व सिल्वर पदक हासिल कर चुकी है।

181
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *