VS News India Search Thumbnail
Big News HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

पिपली रैली के लिए किसानों व आढ़तियों ने भरी हुंकार

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – तीन अध्यादेशों के विरोध में पिपली में आयोजित होने वाली किसान बचाओ-मंडी बचाओ रैली को लेकर किसानों, व्यापारियों व प्रशासन में टकराव की स्थिति उत्पन्न होती दिखाई पड़ रही है। जहां एकतरफ किसान और व्यापारी इस रैली में जाने के लिए आमादा है, वहीं दूसरी और प्रशासन की ओर से किसान व व्यापारी नेताओं को इस रैली में ना जाने के लिए नोटिस जारी कर दिए गए है। अगर नोटिस के बावजूद अगर किसान व व्यापारी रैली में जाते है तो पुलिस की ओर से कार्रवाई करने की बात कही गई है। भारतीय किसान यूनियन (चढूनी ग्रुप) के अध्यक्ष लीलूराम सिवानामाल के पास पुलिस नोटिस लेकर पहुंची तो उन्होंने नोटिस पर दस्तखत नहीं किए लेकिन कच्चा आढ़ती संघ सफीदों के प्रधान अनुज मंगला ने यह नोटिस प्राप्त कर लिया है। दोनों ने ही इस रैली में ज्यादा से ज्यादा किसानों व आढ़तियों को ले जाने की बात कही है। 

क्या कहा गया है नोटिस में सिटी थाना की ओर से कच्चा आढ़ती संघ के प्रधान अनुज मंगला को जारी नाटिस में कहा गया है कि पुलिस को सूख्चना मिली है कि उनके द्वारा लोगों को इका करके बस द्वारा कुरूक्षेत्र रैली में ले जाने की कोशिश की जा रही है तथा रैली स्थगित होने की जानकारी सोर्स रिपोर्ट से प्राप्त हुई है। कोविड 19 महामारी का दौर है और संक्रमण फैलने का अंदेशा है। इसलिए सूचित किया जाता है कि इस रैली में जाने के लिए लोगों को इका ना करें और ना ही बस में लोगों को इक_ा करके बैठाया जाए। अगर ऐसा करते हुए पाए गए तो उनके विरूद्ध कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी और कोताही की सूरत में वे खुद जिम्मेदार होंगे। 

क्या कहते हैं किसान यूनियन के प्रधान
इस मामले में किसान नेता लीलू राम सिवानामाल का कहना है कि उनकी व उनके साथियों की ओर से इस रैली में जाने के लिए पूरी तैयारी है लेकिन उनकी तैयारियों पर प्रशासन अड़ंगा लगाने का प्रयास कर रहा है। उनके पास इस रैली में ना जाने को लेकर सरफाबाद चौंकी से पुलिस नोटिस लेकर पहुंची थी जिस पर उन्होंने दस्तखत नहीं किए हैं। वह अपने किसान साथियों के साथ इस रैली में जरूर से जरूर पहुंचेंगे। जहां पर भी प्रशासन व पुलिस द्वारा उन्हें रोकने का प्रयास किया जाएगा। वहीं पर वे अपना विरोध जाहिर करेंगे। अगर फिर भी आगे नहीं जाने दिया गया तो वे उसी स्थान पर तिरपाल बिछाकर धरने पर बैठ जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा लागू किए गए अध्यादेशों से किसान वर्ग बर्बादी के कगार पर पहुंच जाएगा। सरकार किसानों के हितों पर ध्यान ना देकर रोज किसान विरोधी अध्यादेशों को पारित कर रही है। 

सफीदों कच्चा आढ़ती संघ के प्रधान अनुज मंगला ने बताया कि सफीदों मंडी के आढ़ती इस रैली में बढ़-चढ़कर भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि पुलिस की ओर से उन्हें इस रैली में ना जाने के लिए एक नोटिस भी दिया गया है लेकिन यह नोटिस आढ़तियों के कदमों को नहीं रोक सकता। सफीदों मंडी के आढ़ती इस रैली में जरूर शिरकत करेंगे और इसके लिए तैयारियां पूर्ण कर ली गईं हैं। सरकार द्वारा लागू किए गए अध्यादेशों से आढ़तियों व किसानों में रोष व्याप्त है। यह सरकार किसान व आढ़ती के चोली-दामन के साथ को तोडऩे पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के तीनों अध्यादेश पूरी तरह से किसान, आढ़ती, मजदूर विरोधी है, जिसे सहन नहीं किया जाएगा। इन तीनों अध्यादेश से देश व प्रदेश का किसान व व्यापारी बर्बाद हो जाएगा। उन्होंने सरकार से मांग की कि इन अध्यादेशों को तुरंत प्रभाव से वापिस ले। 

390
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *