सफीदों मंडी में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए आढ़ती।
Big News HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

प्रशासन को चकमा देकर पीपली रैली में पहुंचे सफीदों मंडी के आढ़ती

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – तीन अध्यादेशों के विरोध में पिपली में आयोजित की गई किसान बचाओ-मंडी बचाओ रैली में प्रशासन को चकमा देकर सफीदों मंडी के आढ़ती आख्ख्ख्खिरकार पहुंच ही गए। मंडी के आढ़तियों ने रैली में पहुंचकर वहां से अपनी उपस्थिति का एक फोटो भी वायरल किया है। मंडी के आढ़ती इस रैली में ना पहुंच सकें इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारियां कर रखी थी लेकिन प्रशासनिक तैयारियां धरी की धरी रह गईं। प्रशासन ने आढ़तियों को रैली में ले जाने के लिए आई गाडिय़ों को पहले ही जब्त करके नई अनाज मंडी गेट को ताला लगा दिया था। वहीं किसान नेता लीलू राम सिवानामाल को पुलिस ने अल सुबह ही हिरासत में ले लिया था। वीरवार सुबह ही ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नायब तहसीलदार रामपाल शर्मा व एसएचओ देवीलाल दलबल के साथ सफीदों की नई अनाज मंडी में पहुंच गए थे। वहीं दूसरी ओर मंडी के आढ़ती व मुनीम इस रैली में जाने के लिए कच्चा आढ़ती संघ के प्रधान अनुज मंगला के प्रतिष्ठान पर एकत्रित होना शुरू हो गए थे।

कुछ देर के बाद आढ़ती व मुनीम कच्चा आढ़ती संघ के प्रधान अनुज मंगला की अगुवाई में पिपली जाने के लिए रवाना होने लगे तो एसएचओ देवीलाल ने उन्हें मंडी के मुख्य द्वार पर रोक दिया। वहां पर आढ़तियों ने सरकार के ख्खिलाफ जमकर नारेबाजी की तथा रैली में ना जाने देने का विरोध जताया। एसएचओ देवीलाल ने आढ़तियों से कहा कि कोरोना महामारी का दौर चला हुआ है और संक्रमण फैलने का अंदेशा है। कोरोना के चलते वे उन्हे रैली में जाने के लिए इजाजत नहीं दे सकते। प्रधान अनुज मंगला ने कहा कि उन्हें कोई भी ताकत इस रैली में जाने से कोई नहीं रोक सकती और वे हर सूरत में रैली में शिरकत करेंगे। पुलिस द्वारा रोके जाने के उपरांत आढ़तियों ने एकदम से अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए दोबारा से मंडी प्रधान की दुकान पर आ गए और वहां से इक्का-दुक्का की संख्या में मंडी से बाहर निकलकर अलग-अलग स्थानों से नीजि वाहनों में 4-5 की संख्या में पिपली रैली के लिए रवाना हो गए और वहां से एक फोटो कभी वायरल किया।

अपने संबोधन में कच्चा आढ़ती संघ के प्रधान अनुज मंगला ने कहा कि सरकार व प्रशासन द्वारा आढ़तियों के साथ तानाशाही रवैया अपनाया है। पुलिस ने पहले तो उनके द्वारा मंगवाएं गए साधनों को जब्त कर लिया तथा जब वे पैदल मंडी से बाहर जाने लगे तो मंडी गेट का ताला लगाकर उन्हे रोक दिया। आढ़तियों ने निर्णय ले लिया था कि वे हर हालत में रैली में पहुंचेगे। अपनी रणनीति के तहत सफीदों मंडी के आढ़ती पिपली रैली में पहुंचने में कामयाब हो गए है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने किसान व आढ़ती के बीच फूट डालो राज करो की नीति अपना रही है लेकिन सरकार अपने मनसूबों में कामयाब नहीं हो पाएगी। किसान व आढ़ती का चोली दामन का साथ है और इन दोनों को कोई भी ताकत अलग नहीं कर सकती है। प्रदेश का आढ़ती, किसान व मजदूर सरकारी शोषण को कतई सहन नहीं करेगा और सरकार के खिलाफ यह लड़ाई लगातार जारी रहेगी। 

535
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *