पत्रकारों को जानकारी देते हुए समाजसेवी नरेश मंगला।
HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

नि:शुल्क व नि:स्वार्थ भाव से पीडि़तों को सहायता पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं समाजसेवी लोग

VS News India | Sanjay Kumar | Safidon : – इस कोरोना महामारी में समाज में एक तरफ ऐसे लोग हैं जो दवाईयों व आक्सीजन की कालाबाजारी कर रहे हैं और दूसरी तरफ ऐसे सामाजिक सोच रखने वाले व्यक्तित्व भी समाज में रहते हैं जो लोगों को नि:शुल्क व नि:स्वार्थ भाव से पीडि़तों को सहायता पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। ऐसे सामाजिक व सकारात्मक सोच रखने वाले पुरानी अनाज सफीदों निवासी नरेश मंगला हैं, जो इस महामारी में लोगों की पीड़ा को दिल से समझते हैं। इसी समझ के चलते नरेश मंगला ने इस महामारी के दौरान प्रभू इच्छा तक लोगों को आक्सीजन, दवाईयां, बै्रड व संस्कार के लिए लकडिय़ां मुहैया करवाने का प्रण लिया है। इस मौके पर उनके साथ पूर्व पालिकाध्यक्ष राकेश जैन विशेष रूप से उपस्थित थे।

Bajinder Saini EA3

नरेश मंगला ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण चहुंओर हाहाकार मचा हुआ है। लोगों को समय पर अस्पतालों में बैड, दवाईयां व आक्सीजन प्राप्त नहीं हो रही है। दवाईयों व आक्सीजन की कालाबाजारी चल रही है। लोगों को सैंकड़ों रूपए का इजेंक्शन व आक्सीजन 25 से 30 हजार रूपए में प्राप्त हो रही है। श्मशानों में लाशों की लाईन लगी हुई और शवों के संस्कार के लिए लकडिय़ों तक की दिक्कत है। यह सब देखकर उनका मन बेहद दुखी व परेशान चल रहा था। अभी कुछ दिन पूर्व उन्हे ब्रह्ममुर्हुत में परमपूज्य वेदाचार्य दंडीस्वामी निगमबोध तीर्थ महाराज की सद्पे्ररणा से आह्वान हुआ कि वह कोरोना महामारी में पीडि़त व असहाय लोगों की मदद करे। इसी सद्प्रेरणा ने उन्होंने यह बीड़ा उठाया है। उन्होंने कहा कि समाज में दिन-प्रतिदिन बढ़ते कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण मौतों के आंकड़ों में निरंतर इजाफा हो रहा है। कोविड के कारण लोगों को आर्थिक समस्याओं से भी गुजरना पड़ रहा है। बहुत से ऐसे लोग है जिनके पास संस्कार करने के लिए लकडिय़ों तक के पैसे नहीं है और वे लकडिय़ों खरीदने का बजट उठा नहीं सकते।

Singhs Computer Education Assandh Ad

इसको लेकर उन्होंने लकड़ी की उपलब्धा का प्रकल्प शुरू किया है। जिसके तहत उन्होंने उनकी पुरानी अनाज मंडी सफीदों स्थित मैं. मुकंदी लाल एंड संस नामक फर्म पर लकडिय़ों का ढ़ेर डलवा दिया गया है। संपूर्ण सफीदों क्षेत्र में किसी भी नागरिक को संस्कार के लिए लकडिय़ों की समस्या आ रही हो या वह आर्थिक अभाव के कारण लकडिय़ां खरीद पाने में असमर्थ हो, ऐसे लोग वहां से लकडिय़ां नि:शुल्क ले जा सकते हैं। इसके लिए किसी बिचौलिएं या सिफारिश की आवश्यकता नहीं है। पीडि़त परिवार को कोई भी सदस्य बिना किसी पूछताछ के इस ढेर में जितनी भी लकडिय़ों की आवश्यकता हो ले जा सकता है। उन्होंने बताया कि सरकार ने जरूरतमंद मरीजों को आक्सीजन देने के लिए आक्सीजन पोर्टल शुरू किया है। जरूरतमंद व्यक्ति पोर्टल पर अपना आवेदन कर दे। उसके बाद उस आक्सीजन सिलेंडर की फीस व लाने का खर्चा वे खुद वहन करेंगे। इसके साथ किसी जरूरतमंद को दवाई की जरूरत है तो वह डाक्टर द्वारा लिखित दवाईयों का पर्चा उनके पास भेज दें, वे सारी दवाईयां मरीज के घर तक पहुंचाएंगे। इसके साथ-साथ मरीजों को बै्रड व बिस्किट वगैरह भी उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस कार्य के नगर के अनेक सामाजिक लोगों की टीम का गठन किया जाएगा, जो लोगों को राहत पहुंचाने का कार्य करेंगे। नरेश मंगला के इस कदम व प्रयास की संपूर्ण सफीदों क्षेत्र में भूरी-भूरी प्रशंसा की जा रही है।

173
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *