वेबीनार को संबोधित करते हुए राज्य नोडल अधिकारी अनिल मलिक।
HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

माता-पिता का मार्गदर्शन बच्चे के भविष्य निर्माण में सहायक: अनिल मलिक

VS News India | Sanju | Safidon : – सफीदों: माता-पिता द्वारा बच्चे को दिया गया उचित मार्गदर्शन उसके भविष्य निर्माण में बेहद सहायक सिद्ध होता है। यह बात गांव करसिंधु स्थित वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों, अभिभावकों, शिक्षकों एवं समाजसेवियों से प्राप्त सवालों के जवाब देते हुए मंडलीय बाल कल्याण अधिकारी रोहतक एवं राज्य नोडल अधिकारी अनिल मलिक ने वेबीनार को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कहा कि डर मन की वह दशा है जिससे बच्चा किसी काल्पनिक परिस्थिति से डरता है, यह एक नकारात्मक भावना है। अंधविश्वासी, बुद्धिमान और अनिश्चितता भय के तीन अलग-अलग प्रकार होते हैं। अक्सर बच्चों को पढ़ाई के बाद इसलिए कम याद रहता है कि ज्यादातर छात्र याद करने के तरीकों का सही इस्तेमाल नहीं करते। ऐसे नुस्खों पर अमल करते हैं जो किसी काम के नहीं होते। बेहतर रणनीति तैयार करके स्मरण शक्ति बढ़ाने हेतु उत्सुकता व रुचि अनुसार पढ़ाई करनी चाहिए, व्यवधान करने वाली वस्तुओं को दूर रखें। रट्टा मारने से नहीं विषयों को गहराई से अध्ययन करके सफलता अर्जित की जा सकती है। कुछ सरल तरीके हैं जिनसे पढ़ी हुई सामग्री को याद रखा जा सकता है जरूरी है खुद पर भरोसा करें, दोहराते रहें, चीजों को एक-दूसरे से जोडक़र देखें, कल्पना शक्ति बहुत शक्तिशाली है, अपनी दिनचर्या, समय सारणी, रुचि-समझ, पढ़ाई के रोचक व मनोरंजक तथ्य जानकर पढ़ाई करें। दृढ़ इच्छाशक्ति, आत्मबल, आत्मविश्वास, संकल्प, समर्पण, समता और सहिष्णुता मानव जीवन को सही रास्ते पर चलने के लिए मील के पत्थर साबित हो सकते हैं। आपके प्रयास दूसरों को ज्यादा सपने देखने, ज्यादा सीखने और अधिक मेहनत करने के लिए प्रेरित करते हो तो समझी कि आप एक अच्छे लीडर हैं। हम बच्चों के भीतर लीडरशिप क्वालिटी को विकसित करने की बात करते हैं तब माता-पिता व शिक्षकों को बचपन से ही विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है। बच्चों में स्वयं ही सीखने की अंदरूनी क्षमता होती है, ध्यान रहे जिन जीवन मूल्यों बारे सिखा रहे हैं उन्हें स्वयं व्यावहारिक रूप से स्वयं चित्रण जरूर करें। बच्चे बहुत बारीकी से ऑब्जर्व करते हैं और सीखते हैं। इस मौके पर स्कूल प्रिंसिपल डा. नरेश वर्मा, कार्यक्रम अधिकारी मलकीत चहल, परामर्शदाता नीरज कुमार, समाजसेवी अभिषेक सैनी व इशिता मलिक विशेष रूप से मौजूद थे।

166
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *