HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

मोती हासिल करने हेतू समुंद्र की गहराई में उतरना पड़ता है: अनिल मलिक

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – मोती हासिल करने के लिए समुंदर की गहराई में उतरना पड़ता है। ठीक उसी तरह मन की शुद्धता हेतु चिंतन और आत्म अवलोकन करना होता है। यह बात मंडलीय बाल कल्याण अधिकारी रोहतक एवं राज्य नोडल अधिकारी अनिल मलिक ने कही। वे गांव बागडू कलां स्थित नेशनल स्कूल में विद्यार्थियों को संबोधित कर रहे थे। अनिल मलिक ने कहा कि आज के संचार क्रांति, आधुनिक प्रौद्योगिकी जीवन में हर कोई खुद से व्यस्त है। आपकी दिनचर्या, व्यवहार, दूसरों से बातचीत का तरीका, दूसरों के प्रति नजरिया, आपकी आपसी जान-पहचान सबकुछ तो बदल रहा है। ऐसे में गौर करें कि जब तक कोई व्यक्ति स्वयं को नहीं पहचानता और अपने व्यवहार व विचारों को संतुलित नहीं करता तब तक वह अपने आप को दूसरों के सामने बेहतर तरीके से कैसे प्रस्तुत कर सकता है। जीवन में सार्थक सकारात्मक बदलाव लाने व संपूर्णता के लिए आत्मचिंतन करना जरूरी है। हमें तुलना नहीं, अपनी योग्यता व अंदरूनी कमजोरियां ढूंढकर ताकत बढ़ानी है।

किशोरावस्था के दौरान खुद से खुद की चुनौतियां हैं। भावुकता, चंचलता, व्याकुलता, उत्सुकता, जिज्ञासा और अशांत मन नई-नई चुनौतियां पेश करता है। ऐसे में समूह के दोस्त, इच्छाओं की प्रतिपूर्ति, हार्मोनल बदलाव, खुद की पहचान साबित करने की झूठी शान ओ शौकत से परे हटकर नैतिक शिक्षा, व्यवहारिक ज्ञान के प्रति समझ विकसित करनी होगी। परीक्षा की तैयारियां और भविष्य के मद्देनजर अभी से प्रतियोगिता की भावना से तैयारी करें। खुद से खुद की प्रतियोगिता करें, तनावमुक्त रहें, जीवन लक्ष्य हमेशा ऊंचा निर्धारित करें, उसे हासिल करने के लिए बेहतर, कारगर, सार्थक, वास्तविक रणनीति बनाकर डट जाएं। इस मौके पर प्रिंसिपल उमा वर्मा, कार्यक्रम अधिकारी मलकीत चहल, नीरज कुमार, महिपाल, यशपाल चहल व सोनू मलिक भी मौजूद थे।

223
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *