HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

नर सेवा ही नारायण सेवा के संकल्प के साथ कांग्रेस ने शुरू किया सेवा-समर्पण अभियान

VS News India | Sanjay Kumar | Safidon : – कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि ना कहीं सरकार है और न ही शासन। भाजपा-जजपा सरकार के हुक्मरान प्रदेश में और मोदी सरकार देश मेंं अपनी जिम्मेदारी से पीछा छुड़वाकर पीठ दिखा भाग खड़े हुए हैं। ये शब्द उन्होंने सफीदों में पत्रकारों से बात करते समय कहें। वह रविवार को सफीदों के नागरिक अस्पताल व निजी अस्पतालों में पीपी कीट, सैनिटाइजर व एन-95 मास्क वितरित करने के लिए पहुंचे थे।

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भी हरियाणा में कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या छह लाख पार होकर  6,78,766 हो गई है और सरकारी आंकड़ों की भी मानें तो कल-तक लगभग 6,000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। पूरे देश में भी सरकारी आंकड़ों की मानें तो कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा ढ़ाई लाख को पार होकर 2,70,284 हो गया है और कुल कोरोना ग्रस्त लोगों की संख्या 2.44 करोड़ हो गई। अकेले कल ही देश में 4077 लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे।

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आज उन्होंने ‘सेवा और समर्पण अभियान में कांग्रेस पार्टी के साथियों के साथ मिलकर जुलाना व सफीदों शहर में सभी सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरो , प्राईवेट अस्पतालों व प्राईवेट क्लिनिक चलाने वाले हर डॉक्टर तक पीपीई किट, हैंड सैनिटाइजऱ की बोतलें व सोडियम हाईपोक्लोराईट का सफाई सॉल्यूशन पहुंचाने की शुरुआत की है। इस अभियान के एक और चरण में कांग्रेस के साथियों ने जींद जिले में जरूरतमंद इमरजेंसी मरीजों को ‘नि:शुल्क व मुफ्त ऑक्सीजन सेवा की भी शुरुआत की है। पिछले एक साल भी कोरोना के दौरे में कांग्रेस पार्टी के साथियों सहित सुरजेवाला ने कैथल जिले, कुरुक्षेत्र जिले, जींद जिले व बरवाला और उकलाना के सभी सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों, प्राईवेट अस्पतालों व प्राईवेट क्लिनिक चलाने वाले हर डॉक्टर तक पीपीई किट, एन-95 मास्क, सोडियम हाईपोक्लोराईट का सफाई सॉल्यूशन पहुंचाया था और पुलिस थानों में भी पुलिसकर्मियों तक व पत्रकार साथियों तक भी एन-95 मास्क पहुंचाने का काम किया था। प्रदेश स्तर पर भी हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने हैल्पलाईन के माध्यम से हर जिले में कांग्रेस के नेताओं को प्रोत्साहित कर मदद के लिए आगे आने का आह्वान किया है तथा हर जिले में कांग्रेस नेता यथा संभव मदद कर रहे हैं। यही कांग्रेस अध्यक्षा, सोनिया गांधी व राहुल गांधी का संकल्प है।

Bajinder Saini EA3

खेद की बात है कि सत्ता में रहते हुए भी भाजपा-जजपा सरकार जनता के इस सेवा भाव से पूरी तरह उदासीन है। कभी स्वयं मुख्यमंत्री, मनोहर लाल खट्टर बड़बोले बयान देकर यह कहते है कि कोरोना की बदइंतजामी के खिलाफ शोर मचाने से न कोई जिंदा हो पाएगा और न ही कोरोना खत्म हो पाएगा और कभी कोरोना की मार से जूझ रहे मरीज और उनके परिवार के लोग घंटों तक वीआईपी दौरे के कारण तड़पते रहते है, जैसा कि हाल में ही जींद ने मुख्यमंत्री के दौरे में देखा। रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में कोरोना महामारी ने विक्राल रूप धारण कर लिया है। सच्चाई यह है कि न तो कोरोना संक्रमण के आंकड़े और न ही कोरोना से हो रही मौतों के आंकड़े सही हैं। असलियत इससे कहीं भयावह है। कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार करने की गहन आवश्यकता है:-

  1. अखबारों ने पिछले एक हफ्ते के गांव में कोरोना से होने वाली मृत्यु के जो आंकड़े जारी किए हैं, वह 1,879 मृत्यु के हैं। यह अपने आप में गंभीर चिंता का विषय है। और भी गंभीर बात यह है कि यह आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। न गांव मे आरटीपीसीआर टेस्टिंग है, न दवा, न इलाज। ऐसे में फैलते हुए कोरोना पर नियंत्रण कैसे होगा।
  2. हरियाणा में ऑक्सीजन का संकट नहीं, इमरजेंसी है। दिल्ली में 85,000 सक्रिय मरीजों पर 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन दी गई है,
    पर हरियाणा को 100,000 सक्रिय कोरोना मरीजों पर मात्र 282 मीट्रिक टन ऑक्सीजन दी गई है। ऐसा क्यों? असलियत में हरियाणा को
    ऑक्सीजन की उपलब्धता 225 मीट्रिक टन प्रतिदिन से अधिक नहीं। खट्टर सरकार इसका क्या हल निकालेगी?
  3. हरियाणा के 12 जिलों को मात्र आधा मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही दी जा रही है। यह भेदभाव क्यो ? यही नहीं,
    घर में संक्रमित ऑक्सीजन की जरूरत वाले मरीजों को ऑक्सीजन का कोटा ही नहीं दिया जा रहा। ऐसा क्यों?
  4. सत्ता सरकार ने हरियाणा के 85 शहरों व कस्बों में से अधिकतर मध्यम स्तर व छोटे कस्बों में गैरकोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन सप्लाई
    बंद कर दी है। तो फिर ऐसे में इमरजेंसी डिलीवरी, एक्सीडेंट केस, कैंसर मरीज, लिवर मरीज, किडनी मरीज, अन्य बीमारियों के मरीज इलाज के
    लिए कहां जाएं?
    5.सत्ता सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों को कोविड अस्पताल बनाने का अधिकार भी अपने पास रख लिया
    है। नतीजा यह है कि मरीज दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं व प्राईवेट अस्पताल कोविड अस्पताल न
    होने की दुहाई दे मरीजों को भर्ती ही नहीं कर रहे। कोविड अस्पताल बनाने में भी भ्रष्टाचार के इल्जाम
    सामने आए हैं।
  5. सत्ता सरकार ने कोरोना निरोधक टीके को लेकर हरियाणा की जनता को अपने हाल पर छोड़ दिया
    है। हरियाणा में 45 वर्ष से अधिक आयु के 37 लाख लोगों को ही पहला टीका लगा, जबकि दूसरा
    टीका मात्र 8 लाख लोगों को ही मिला है। 45 से अधिक आयु के लोगों के लिए भी टीका उपलब्ध
    नहीं, तो 45 से कम आयु के लोगों का क्या हाल होगा, इसका अंदाजा खुद लगाया जा सकता है।
  6. प्रदेश भर में जीवनरक्षक दवाईयों की काला बाजारी खुले आम हो रही है। रेमडिसिविर इंजेक्शन,
    आईवरमेक्टिन इंजेक्शन, टोसिलुजुमैब इंजेक्शन उपलब्ध नहीं, पर ब्लैक मार्केट में हजारों लाखों रुपयेे  
    में ये इंजेक्शन बेचे जा रहे हैं।
  7. प्रदेश भर में जीवनरक्षक दवाएं तो नहीं पर शराब माफिया का खुला खेल चल रहा है। ‘शराब की
    सप्लाई फुल और जीवनरक्षक दवाएं गुल है। रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि क्या मुख्यमंत्री मनोहर लाल व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला इन बातों का जवाब
    देंगे। इस मौके पर उनके साथ युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव नरेंद्र खर्ब, विरेंद्र जागलान, राममेहर देशवाल, विक्रम कुंडू आदि मौजूद रहें।
271
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *