Crime HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

भारी मात्रा में मरे हुए मुर्गें बहकर आने के मामले में नहरी विभाग हरकत में

VS News India | Sanjay Kumar | Safidon : – सफीदों नगर के बीचोबीच बहने वाली हांसी ब्रांच नहर में भारी मात्रा में मरे हुए मुर्गें बहकर आने के मामले में नहरी विभाग हरकत में आ गया है। विभाग ने पहले तो अज्ञात के ख्खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाया और बाद में नहर से मरे हुए मुर्गे निकलवाकर उन्हे जमीन में दबवाया। नहरी विभाग का अमला एसडीओ धु्रव कुमार के नेतृत्व में नहर पर पहुंचा। विभाग के कर्मचारी पीपीई कीट पहनकर नहर में उतरे और नहर से मरे हुए मुर्गे निकालने का कार्य शुरू किया। कर्मचारियों ने नहर के पानी में से मरे मुर्गे उठाकर उन्हे कट्टों में भरकर उन्हे ट्राली में इकट्टा किया।

नहर में मरे हुए मुर्गे निकालते हुए कर्मचारी।
नहर में मरे हुए मुर्गे निकालते हुए कर्मचारी।

कर्मचारियों ने यह अभियान गांव अंटा हैड से गांव छाप्पर तक की बुर्जी तक चलाया। इस सफाई अभियान के दौरान हजारों की तादाद में मरे हुए मुर्गे इकट्टा हो गए और उनसे तीन ट्रॉलियां भर गई। विभागीय कर्मचारियों ने जेसीबी मंगवाकर गहरे गड्ढे करवाकर इन मुर्गों को उनमे दबवाया ताकि इनकी सडांध से कोई बीमारी उत्पन्न होकर आमजन को प्रभावित ना कर सकें। गौरतलब है कि अज्ञात व्यक्ति ने हजारों मरे हुए मुर्गे हांसी ब्रांच में नहर में डाल दिए थे। सफीदों में लोगों ने नहर में चारों ओर मरे हुए मुर्गे तैरते हुए देखे तो उन्होंने मामले की सूचना एसडीएम मनदीप कुमार को दी। एसडीएम ने मौके पर नहरी विभाग व पशुपालन विभाग के अधिकारियों को मौके पर भेजकर मुआयना करवाया था। मुआयने के दौरान अधिकारियों को नहर में भारी मात्रा में मुर्गे बहते हुए दिखाई दिए। उसके बाद नहरीं विभाग के एसडीओ धु्रव कुमार ने अज्ञात के खिलाफ सफीदों सदर थाना में मामला दर्ज करवाया था। वहीं पशुपालन विभाग के डा. सुशील रोहिल्ला ने नहर से मरे हुए मुर्गें का सैंपल लेकर जांच के लिए हिसार भेजा था।

Bajinder Saini EA3

नहरी विभाग के एसडीओ धु्रव कुमार ने बताया कि विभागीय अमले को लगाकर पूरी एहतियात के साथ अंटा हैड से गांव छाप्पर तक नहर से मरे हुए मुर्गों को निकलवाकर नहर को क्लीन करवा दिया गया है। मरे हुए मुर्गों की 3 ट्रॉलियां भर गई थी, जिनमें 2 ट्रॉलियों को गांव छाप्पर व रामपुरा के बीच तथा एक ट्रॉली को अंटा हैड के पास पड़े खाली स्थान में जेसीबी से गड्ढा करवाकर दबवा दिया गया है। उन्होंने बताया कि विभाग को अनेकों बार इस प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। हैचरी संचालकों द्वारा मरे हुए मुर्गें व अन्य मैटिरियर नहरों व ड्रेनों में डाल दिया जाता है। उन्होंने बताया कि जल्द ही हैचरी मालिकों को विभाग की ओर से नोटिस भी जारी किया जाएगा। अगर वे फिर भी नहीं माने तो उनके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Singhs Computer Education Assandh Ad
312
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *