उपनिदेशिका वंदना गुप्ता का स्वागत करते हुए अधिकारीगण
HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

उपनिदेशका वंदना गुप्ता ने मेघा पीटीएम में किया बच्चों को प्रोत्साहित

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यायल करसिंधू व राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सफीदों में मेघा अध्यापक-अभिभावक बैठक (पीटीएम) का आयोजन किया गया। इस मेघा पीटीएम में बतौर मुख्यातिथि हरियाणा शिक्षा विभाग की उपनिदेशका वंदना गुप्ता ने शिरकत  की। इस मौके पर बीडीपीओ कीर्ति सिरोहीवाल, डाइट प्रधानाचार्य नवीन नारा व बीईओ डा.नरेश वर्मा भी विशेष रूप से उपस्थित रहे।  इस अवसर पर उपनिदेशका वंदना गुप्ता ने करसिंधू गांव में चार एकड़ में बनने वाली विद्यालय की नई इमारत का भी शिलान्यास किया। अपने संबोधन में वंदना गुप्ता ने कहा कि निकट भविष्य में बोर्ड की परीक्षाएं आ रही है और इन परीक्षाओं को लेकर बच्चों व अभिभावकों को प्रोम्त्साहित करने के लिए इस प्रकार की मेघा पीटीएम का आयोजन किया जा रहा है।  उन्होंने कहा कि परीक्षाओं में बच्चों व अध्यापकों ने बेहतर कार्य करके दिखाना है। सरकारी स्कूलों में बहुत प्रतिभाएं छुपी हुई हैं। जिनको निखारने का काम अध्यापक ही कर सकते हैंं। अध्यापक अपने प्रयासों से सरकारी स्कूल में पढ़ाई नहीं होने वाले मिथक को तोडऩे का प्रयास करें। उन्होंने स्वयं का उदाहरण देते हुए कहा कि वे भी सरकारी स्कूल में पढ़ी-लिखी हैं और इस पद पर पहुंची है। एक से एक उदाहरण भरे पढ़े हैं कि सरकारी स्कूल में पढ़े-लिखे बहुत से लोग देश के बड़े-बड़े पदों को सुशोभित कर रहे हैं। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे परीक्षाओं का कतई तनाव ना ले और पूरी तरह से तनावमुक्त होकर अपनी परिक्षाएं दें। बच्चे सबकुछ एकदम समय पर करने की बजाएं हर रोज थोड़ा-थोड़ा करके परीक्षाओं की तैयारियां करें। इससे उनकी तैयारी बेहतर होगी, तनाव भी नहीं पैदा होगा और उसके परिणाम भी सुंदर आएंगे। इस कार्य में अध्यापकों के साथ-साथ अभिभावकों को भी बच्चों के साथ पूरा सहयोग करना होगा। अभिभावक अपने-अपने बच्चों को आने वाले 15 दिन पूरी तरह से फ्री कर दें ताकि वे बेहतर तैयारी कर सकें। उन्होंने बच्चों को टिप्स देते हुए कहा कि परीक्षा में सबसे पहले प्रश्र पत्र को अच्छी प्रकार से पढ़े। सबसे पहले वो करें जो उन्हे अच्छी प्रकार से आता है। संभव हो प्रश्न पत्र को हल करते समय सबसे पहले एक व दो नम्ंबर के प्रश्नों को हल करें और उसके बाद निबंध रूपी प्रश्नों को हल करें। उन्होंने अध्यापकों से कहा कि प्री बोर्ड परीक्षा परिणामो में उनको यह पता चल गया है कि कौन बच्चा किस-किस विषय में कमजोर है या किस विषय में नंबर कम है वे बच्चे की उसके हिसाब से तैयारी करवाकर उन्हे आगे बढ़ाने का प्रयास करें। 

504
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *