सफीदों में पत्रकारों से बातचीत करते हुए नगर पार्षद गौरव रोहिल्ला।
HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

सफीदों पालिका के अधिकारियों ने किया भारी भ्रष्टाचार: गौरव रोहिल्ला

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – नगरपालिका के अधिकारियों ने पालिका के विकास कार्यों में भारी भ्रष्टाचार किया है और जांचख् करके इनके खिलाफ एफएफआईआर दर्ज करके इन्हे सस्पेंड किया जाना चाहिए। यह बात नगरपार्षद गौरव रोहिल्ला ने अपने निवास स्थान आयोजित प्रैस वार्ता में कही। पार्षद गौरव रोहिल्ला ने नगरपालिका के जेई पर भ्रष्टाचार के सीधे-सीधे आरोप लगाते हुए कहा कि पालिका प्रधान व पार्षदों को यह तो पता होता है कि विकास कार्य कहां हुआ है, लेकिन उनको यह नहीं पता होता है कि अधिकारियों द्वारा कागजों में क्या-क्या गोलमाल किया हुआ है।  इसमें कोई दो राय नहीं है कि सफीदों में जमकर विकास कार्य हुए है ,लेकिन पालिका के अधिकारियों ने इन विकास कार्यों के कागजात तैयार करने में भारी गोलमाल किया है। जहां पर मिट्टी, रोड़ा व अन्य सामग्री नहीं डाली गई, उनके भी बिल बनाकर पेमैंट कर दी गई।  पार्षद रोहिल्ला ने पालिका के जेई को भ्रष्टाचार की प्रमुख जड़ बताते हुए कहा कि एस्टीमेट से लेकर पेमेंट तक सभी कार्य जेई के माध्यम से होते हैं और उसके द्वारा ही भारी आर्थिक व तकनीकि गड़बडिय़ां की गई हैं। उन्होंने बताया कि पालिका में भ्रष्टाचार के मामलों को लेकर वे सूबे के गृहमंत्री अनिल विज से भी मिल चुके हैं और उन्होंने कोरोनाकाल के बाद इसकी जांच करवाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया है।  उन्होंने कहा कि पालिका में हुए घोटालों के सारे सबूत भी जल्द ही जांच कमेटी व मीडिय़ा के सामने रखेंगे कि अधिकारियों ने कैसे विकास कार्यों में गड़बडिय़ां की हैं। फिलहाल वे सबूत इसलिए प्रस्तुत नहीं कर रहे हैं क्योंकि उन्हे अंदेशा है कि कहीं अधिकारी सबूतों के साथ छेड़छाड़ ना कर दें। उन्होंने सरकार से मांग की कि सफीदों पालिका के भ्रष्टाचार की निष्पक्ष जांच हो तथा दोषी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके उन्हे सस्पैंड़ किया जाए। 
बाक्स:-
इस मामले में जब जेई प्रवीन से बात की गई तो उन्होंने सभी आरोपों को निराधार बताया। जेई ने कहा कि सभी विकास कार्य नियम अनुसार हो रहे।  हर विकास कार्याे में डीसी द्वारा बनाई गई थर्ड पार्टी समय-समय पर मौके का निरीक्षण करती रहती है। अधिकारियों के निरीक्षण के बाद ही पेमंट होता है।
वह सभ्भी प्रकार की जांच के लिए तैयार है। 

1052
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *