HARYANA SAFIDON Sansani VS NEWS INDIA

हादसे ने 3 बहनों से छीन लिए दो इकलौते भाई, बिना मा-बाप के इकलौते लड़के की 25 दिसंबर को भजनी थी शहनाई  

VS News India |Reporter – Sanju | Safidon : – एसपी पानीपत की गाड़ी व ट्रैक्टर-ट्राली की कार से टक्कर होने बाद तीन जवान युवकों की मौत हो गई। घटना शुक्रवार रात्रि असंध-कैथल मार्ग पर गांव मर्दानखेड़ी के पास एक रजवाहे के पुल पर हुई। इन तीनों मौतों से सफीदों शहर की तारा बस्ती, अंटा कालोनी व गांव सिल्लाखेड़ी एवं कैथल के गांव दयौरा में मातम पसर गया। तीनों ही युवक हाल ही में सफीदों रह रहे थे। जोकि एक-दूसरेे दोस्त थे। मृतक युवकों में 20 वर्षीय प्रयाग गांव सिल्लाखेड़ी हाल ही में सफीदों की अंटा में अपने परिवार के पास रहता था। जोकि दो बहनों पर इकलौता भाई था। प्रयाग के पिता सुरेश कृषि विभाग चंडीगढ़ में डिप्टी सुप्रिडेंट के पद पर कार्यरत है। जिन्हें अब अपनी एक आंख का ऑपरेशन भी करवाया हुआ है। ऐसे में पुरा परिवार सदमे में है और गांव सिल्लाख्खेड़ी में भी मातम पसरा हुआ है।

वहीं दूसरा मृत युवक स्वीनदास भी सफीदों की तारा बस्ती में अपनी बहन के पास रह रहा था। जोकि कैथल के गांव दयौरा में माता-पिता की मौत के बाद छोटा सा ही अपनी बहन के पास आया था। बहन ने पढ़ाया-लिखा और एक साल पहले स्वीनदास डी-गुप की नौकरी में भर्ती हुआ था।
जिसकी पोस्टिंग फिलहाल कुरुक्षेत्र के इस्लामाबाद में थी। नौकरी लगने के बाद अब गांव डयौरा में अपनी जमीन में मकान बनने बनाया था। जिसकी गन्नोर के गांव पुरखास में रिश्ता तह होने पर एक सप्ताह बाद 25 दिसंबर को शादी होनी थी। घटना केे बाद दोनों ही परिवारों में खुशी का माहौल मातम में बदल गया। वहीं तीसरा मृतक युवक कार्तिक(26) भ्भी सफीदों की तारा बस्ती का निवासी था। जोकि सफीदों के मां भागो देवी निजी अस्पताल में हैल्पर की नौकरी करके अपनी पत्नी व दो बच्चों में एक लड़का व लड़की का पालन-पोषण कर रहा था। कार्तिक के माता-पिता असंध के गांव सालवन से पंजाब जाकर रहने लगे थे और कार्तिक ने सफीदों की तारा बस्ती में अपना निवास स्थान बनाया हुआ था। एक साथ कई चिताएं जलने पर पूरे शहर में मातम पसरा रहा और युवकों की श्रृद्धांजलि में दोहपर 2 बजे तक सफीदों-जींद रोड का पुरा बाजार बंद रहा।

दस मरीजों की आंखों का करनाल ऑपरेशन करने के लिए गए थे दोस्त:-
निजी अस्पताल में काम करने वाला कार्तिक आंखों के डाक्टर के कहने पर बाहर के मेडिकल स्टोर संचालक प्रयाग की गाड़ी में उसे साथ लेकर दस मरीजों की आंखों को ऑपरेशन करवाने के लिए करनाल रोड पर डाक्टर विकास गुप्ता के पास गए थे। जिन्होंने मरीजों की आंखों का ऑपरेशन करवाने के बाद उन्हें तो दूसरी गाड़ी में वापिस सफीदों भेज दिया था। उसके बाद दोस्त स्वीनदास के गांव दयौरा में शादी की तैयार देखने गए, तो स्वीनदास भी सफीदों में कुछ शादी के कार्ड वितरित करने की बात कहकर उसके साथ गाड़ी में बैठ लिया और उसके बाद तीनों कैथल के हुड्डा सैक्टर 31 में प्रयाग के मामा के घर सांय को करीब 6:45 बजे तक रुके। प्रयाग के मामा के लड़के रविंद्र के अनुसार वह उसने पास ठहरना भी चाहतें थे।

लेकिन कार्तिक ने कहा कि डाक्टर को रिपोट सौंपनी है, यह कहकर वह चलने गए थे। लेकिन जैसे ही वह कैथल-असंध मार्ग पर गांव मर्दानहेड़ी गांव के पास एक रजवाहे के पुल पर पहुंचे तो एसपी पानीपत शशांक सावन को लेने जा रहे पुलिसकर्मी की गाड़ी व ईंटों से भरी टै्रक्टर-ट्राली के साथ उनकी कार की टक्कर हो गई। क्योंकि सड़क काफी कम थी। उक्त युवकों की कार रजवाहे के डिवाईडर व ट्रैक्टर-ट्राली के बीच फंस गई। ऐसे में मौके पर ही तीनों की मौत हो गई। फिलहाल पुलिस ने घायल हुए पुलिसकर्मी सुमित व वेदप्रकाश के ब्यान दर्ज करके ट्रैक्टर-ट्राली नंबर के अज्ञान चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

652
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *