HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

नाराज आढ़तियों ने खाद्य आपूर्ति विभाग के कार्यालय के सामने लगाया जाम


VS News india | Reporter – Sanju | Safidon :-सफीदों कस्बे की पुरानी अनाज मंडी में गेहूं की खरीद शुरू नहीं करने के कारण आढ़तियों ने शुक्रवार को गोहाना-सफीदों रोड को करीब एक घंटे तक जाम रखा। आढ़तियों ने जाम के दौरान सरकार व डीएफएससी एजेंसी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वैसे तो दर्जन भर आढ़ती एकत्रित होकर हाट रोड स्थित खाद्य आपूर्ति विभाग कार्यालय में डीएफएससी एजेंसी के अधिकारियों से बात करने पहुंचे थे। लेकिन इस दौरान अधिकारियों व आढ़तियों के बीच नोक-झोक हो गई।

जिससे गुस्सा हुए आढ़तियों ने कार्यालय के सामने की जाम लगा दिया। जाम लगने की सूचना मिलते ही मार्केट कमेटी सचिव जगजीत सिंह व सिटी थाना प्रभारी अब्बास खान अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और उन्होंने आढ़तियों की समस्या को जाना। आढ़ती विपिन जैन, विपुल जैन, बृजमोहन तायल, बिंटा जैन व प्रवीन जैन,अक्षय जैन, रोशन लाल, राजेंद्र अग्रवाल आदि ने कहा कि पुरानी अनाज मंडी में सरकार द्वारा अभी तक खरीद शुरू नहीं करवाई गई है। जिससे पूरी मंडी गेहंू से अटी हुई। मंडी में करीब 60 हजार बैग गेहंू के पड़े है। डीएफएससी एजेंसी ने अभी तक एक दाना नहीं खरीद है। किसानों व आढ़तियों को खरीद का इंतजार करते हुए करीब 20 दिन हो गए है। हर दिन मौसम खराब होने से किसानों व आढ़तियों की सांस अटक रही है। बारिश होने से मंडी में पड़ा सारा गेहंू खराब होने की संभावना बनी हुई है। अभी तक सभी आढ़तियों को पूर्णरूप से बारदाना भी नहीं दिया गया है। जबकि जिला उपायुक्त द्वारा अधिकारियों को दिए गए जल्द खरीद, भराई, उठाई व पेमेंट करवाने के आदेशों दिए हुए है। पुरानी मंडी में गेहूं के बड़े-बड़े ढेर पड़े हुए है। अपनी इस समस्या को लेकर 20 अप्रैल को आढ़ती मार्केट कमेटी सचिव जगजीत सिंह कादियान से भी मिले। जिन्हें मार्केट कमेटी सचिव जगजीत सिंह ने आढ़तियों को जल्द खरीद शुरू करवाने का भरोसा दिया है।

उच्च अधिकारियों के नहीं है फिलहाल पुरानी मंडी में खरीद करने के आदेश: संदीप लाठर जाम के मौके पर पहुंचे खाद्य आपूर्ति विभाग निरीक्षक संदीप लाठर ने बताया कि पुरानी अनाज मंडी को सरकार द्वारा डी-नोटिफाई किया हुआ है, लेकिन नई अनाज मंडी स्थान के अभाव व कोरोना महामारी के चलते हुए गेहूंं की सीजन के लिए इसे परचेज सेंटर का रूप दे दिया गया था। क्योंकि आढ़तियों ने पहले अपने किसानों की गेहंू को पुरानी अनाज मंडी में डलवा लिया था। इस परचेज सेंटर के अस्तित्व में आने के बाद सरकार ने यहां पर गेहंू खरीद करने की पूरी जिम्मेदारी खाद्य आपूर्ति विभाग को दी थी। 19 अप्रैल को उन्होंने पुरानी अनाज मंडी में खरीद करने के लिए आईडी नंबर व पासवर्ड मांगा था। लेकिन उच्च अधिकारियों द्वारा तब-तक उन्हें पुरानी अनाज मंडी के लिए आईडी नंबर व पासवर्ड नहीं भेजा है। ऐसे में आग वह खरीद शुरू करते है तो उन्हें उठाने करवाने में परेशान होगी। ट्रांसपोर्ट का ठेकेदार गेहंू के उठान में आनाकानी कर सकता है। शुक्रवार सायं तक अधिकारियों से आईडी नंबर व पासवर्ड मिल सकता है, यह फिर खरीद की गाइड-लाइन आते ही खरीद शुरू कर दी जाऐंगी। बाक्स:- इस मामले में मार्केट कमेटी सचिव जगजीत सिंह कादियान ने कहा कि कोरोना काल में सोशल डिस्टेंस बनाने व नई अनाज मंडी में जगह की कमी के चलते जिला उपायुक्त से मंजूरी लेकर पुरानी अनाज मंडी में परचेज सेंटर बनाया गया था। खरीद एजेंसी फूड एंड सप्लाई के उच्च अधिकारियों से  बात हुई है। शुक्रवार सायं तक अधिकारियों से आईडी नंबर व पासवर्ड मिलने की संभावना है। फिलहाल आढ़तियों को पांच बजे तक का आश्वासन देकर जाम को खुलवाया गया है। मामला उच्च अधिकारियोंं के संज्ञान में डाल दिया गया है।

314
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.