Deputy Commissioner Dr Aditya Dahiya
HARYANA JIND VS NEWS INDIA

जिला की 35 अनाज मंडियों/अन्न खरीद केन्द्रों में हो रही फसल की खरीद

VS News India | Jind :- जींद 25 अप्रैल  उपायुक्त डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि किसानों को फसल बिक्री में कोई परेशानी न हो, इसके लिए जिला की 35 अनाज मंडियों/अन्न खरीद केन्द्रों में फसल की खरीददारी तेजी से करवाई जा रही है। वीरवार तक अनाज मंडियों में 6 लाख 29  हजार 793  मीट्रिक टन गेहूं की आवक हो चुकी है। मंडियों में पहुंची समस्त गेहूं की खरीद सरकारी खरीद एंजेसियों द्वारा करवा ली गई है ताकि किसानों को किसी प्रकार की कोई परेशानी आड़े न आए । श्री आदित्य दहिया ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि गेहूं की आवक के मामले में उचाना अनाज मंडी में अब तक 74 हजार 129  मीट्रिक टन गेहूं की आवक हो चुकी है। सफीदों की अनाज मंडी में 71 हजार 734   मीट्रिक  टन गेहूं की आवक हुई। जुलाना में 7० हजार 7०984  मीट्रिक  टन की आवक हो चुकी है। नरवाना में 69 हजार 519 मीट्रिक टन गेहूं की आवक हुई।

उन्होंने बताया कि इसी प्रकार से ऐंचरा कलां की अनाज मंडी में 2०97  मीट्रिक टन, अलेवा की अनाज मंडी में 23972 मीट्रिक  टन, बेलरखां की अनाज मंडी में 3843 मीट्रिक  टन, भम्भेवा की मंडी में 7995 मीट्रिक  टन, छातर की अनाज मंडी में 13238 मीट्रिक  टन, ढाढरथ मंडी में 412० मीट्रिक  टन, धमतान की अनाज मंडी में 218०० मीट्रिक  टन, दनौदा कलां की अनाज मंडी में 1235० मीट्रिक  टन, धनौरी की अनाज मंडी में 1०65० मीट्रिक  टन, डिडवाडा की अनाज मंडी में 2389 मीट्रिक  टन, फैरण कलां की अनाज मंडी में 4571 मीट्रिक  टन, फतेहगढ़ की अनाज मंडी में 1868 मीट्रिक  टन, गढ़ी की अनाज मंडी में 121०5 मीट्रिक  टन, घोघडिय़ा की अनाज मंडी में 997० मीट्रिक  टन, हाट तथा सिवाना माल की अनाज मण्डियों में अभी तक फसल की आवक शुरू नहीं हुई है। जींद की अनाज मंडी में 66616  मीट्रिक  टन,  पिल्लुखेड़ा की अनाज मंडी में 53437 मीट्रिक टन, नंगूरा की अनाज मंडी में 2००78 मीट्रिक टन, उझाना की अनाज मंडी में 12325 मीट्रिक टन, काब्रछा की अनाज मंडी में 6384 मीट्रिक  टन गेहूं की आवक हो चुकी है और मंडियों में पहुंचे गेहूं को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, हैफे ड, एफसीआई तथा एचडब्ल्यू सी खरीद एंजेसियों द्वारा खरीदा जा चुका है। उपायुक्त ने खरीद एंजेसियों के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे फसल खरीद के कार्य को इसी प्रकार से तेजी से करवाते रहे और साथ- साथ फसल उठान का कार्य भी करवाएं ताकि किसानों को कोई परेशानी न हो।

100
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *