Thumbnail News Paper Lite
Education HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

एस.डी.एम. को दिए ज्ञापन से समस्या हल नहीं हुई तो शिक्षामंत्री से लगाई गुहार

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – नगर की आदर्श कालोनी स्थित राजकीय माध्यमिक विद्यालय में अध्यापकों के खाली पड़े कई पदों का मामला गहराता जा रहा है। अब जब एस.डी.एम. को दिए गए ज्ञापन से समस्या हल नहीं हुई तो शिक्षामंत्री कंवरपाल गुज्जर से अध्यापकों के पद भरने की गुहार लगाई गई है। सफीदों की गरीब बस्ती कही जाने वाली आदर्श कालोनी के राजकीय मिडल स्कूल मे गणित व ड्राईंग विषयों के अध्यापक के एक-एक पद को भरने का अनुरोध चण्डीगढ़ में इस स्कूल की प्रबंधक कमेटी के प्रतिनिधि रामदास प्रजापत ने शिक्षामंत्री कंवरपाल गुर्जर से किया। वहां से लौटकर प्रजापत ने बताया कि शिक्षा मंत्री ने मौलिक शिक्षा निदेशक को ये पद तत्काल प्रभाव से भरने का आदेश दिया है। अब देखना यह है कि निदेशक इस आदेश पर अमल करते हैं या नहीं और करते हैं तो कब तक। उन्होंने बताया कि 17 मार्च से वार्षिक परीक्षाएं हैं और दोनो पद लंबे समय रिक्त हैं।
रामदास का कहना है कि राजकीय हाई स्कूल निमम्नाबाद व राजकीय हाई स्कूल बिटानी में गणित के 2 अध्यापक सरप्लस है। उन्होंने शिक्षामंत्री से गुहार लगाई कि इस स्कूल में तत्काल प्रभाव से अध्यापकों की नियुक्ति की जाए ताकि गरीबों के बच्चों की पढ़ाई प्रभावित ना हो। यहां यह भी गौरतलब है कि 7 फरवरी को इस स्कूल के बच्चों को साथ लेकर इस स्कूल के विकास के संघर्षरत्त रामदास प्रजापत ने पदों के भरने की मांग को लेकर मिनी सचिवालय पहुंचकर एस.डी.एम. प्रीतपाल सिंह को ज्ञापन सौंपा था। इस ज्ञापन में स्कूली बच्चों ने कहा था कि सर, प्लीज कुछ कीजिए नहीं तो वे फेल हो जाएंगे लेकिन उस ज्ञापन का कोई असर नहीं हुआ और स्थिति जस की तस बनी रही। थक हारकर अब सीधे शिक्षामंत्री कंवरपाल गुज्जर से गुहार लगाई गई है। बता दें कि रामदास प्रजापत ने इस स्कूल को अपग्रेड करवाने के लिए काफी संघर्ष किया है और एक बार उन्होंने इस स्कूल को लेकर नगर के महाराजा अग्रसैन चौंक पर आमरण अनशन भी किया था। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने पहले कार्यकाल में सफीदों में आयोजित रैली में इस स्कूल को पांचवी से आठवीं तक अपग्रेड किया था। स्कूल तो अपग्रेड हो गया लेकिन यहां पर्याप्त संख्या में अध्यापकों की नियुक्ति नहीं हुई

675
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.