Thumbnail News Paper Lite
HARYANA JIND KHAS KHABAR

वीरवार से ही घर- घर जाकर लोगों को उपलब्ध करवाया जायेगा पक्का हुआ खाना व राशन

VS News India | Jind : – कोरोना वायरस के चलते लोगों को कोई परेशानी न हो, इसके लिए जरूरतमंद लोगों को घर पर ही खाना उपलब्ध करवाने को लेकर जिला प्रशासन द्वारा विस्तृत कार्य योजना तैयार कर ली गई है। वीरवार से ही लोगों को पक्का हुआ खाना तथा खाना पकाने के लिए राशन उपलब्ध होना शुरू हो जायेगा। इस कार्य योजना को सिरे चढ़ाने के लिए वीरवार को लघु सचिवालय के सभागार में एक बैठक का आयोजन हुआ। एसडीएम सत्यवान सिंह मान की अध्यक्षता में आयोजित हुई इस बैठक में शहर की कई समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे। जींद के तहसीलदार मनोज अहलावत इस पूरे कार्यक्रम की देखरेख करेंगे।  एसडीएम सत्यवान सिंह मान ने बैठक में उपस्थित समाज सेवी संस्थाओं का इस सहयोग के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जरूरतमंद लोगों को राशन उपलब्ध करवाने में पूरे शहर को पांच जॉन में बांट दिया गया है। प्रत्येक जॉन के लिए एक- एक समाज सेवी संस्था की टीम नियुक्त की गई है। इन टीमों के साथ सहयोग के लिए सरकारी कर्मी भी साथ रहेंगे। लोगों को खाना/राशन हर रोज सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच घर जाकर करवाया जायेगा। खाना तैयार करने की जिम्मेवारी गुरूद्वारा कमेटी, हलवाई यूनियन के तीन सदस्यों श्याम सुंदर गोयल, अनिल अग्रवाल, नंद किशोर, जयन्ती देवी मन्दिर के पदाधिकारियों ने स्वैच्छा से ली। इसके साथ ही अन्ना टीम के प्रतिनिधि सुनील वशिष्ठ ने जिला प्रशासन के सहयोग से खाने को घर- घर उपलब्ध करवाने की जिम्मेवारी ली। उन्होंने कहा कि आज वीरवार से ही जरूरतमंद लोगों को खाना उपलब्ध करवाया जायेगा। सत्यवान सिंह मान ने कहा कि जो लोग खाने पकाने की स्थिति में नहीं है, उन्हें तैयार करवाकर भोजन पैकेट के रूप में उपलब्ध करवाया जायेगा और जो लोग खाना बना सकते है, उन्हें राशन उपलब्ध करवाया जायेगा। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि पक्का हुआ खाना प्रतिदिन तथा राशन हर सप्ताह जरूरतमंद लोगों को मुहैया करवाया जायेगा। उन्होंने बताया कि राशन के पैकेट में दो किलो आटा, दो किलो चावल, एक किलोग्राम दाल, एक किलो आलू, एक किलो प्याज, एक पाऊच आचार, नमक, मिर्च व तेल होगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि इस सामग्री में आवश्यकता अनुसार कुछ बदलाव भी किया जा सकता है। एसडीएम ने कहा कि शहर के प्रत्येक वार्ड तथा हर गांव में कम से कम एक- एक करियाने की दूकान अवश्य खुली रहेगी। इच्छूक दूकानदारों को दूकान खोलने के लिए जिला प्रशासन की ओर से प्रमाण पत्र भी दे दिये गये है ताकि लोगों को खाने- पीने का सामान आसपास से ही प्राप्त हो सके। 

512
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *