भारत के नौनिहाल भारत के भविष्य है-बेसिक शिक्षा मंत्री
Education KHAS KHABAR Shravasti Uttar Pradesh VS NEWS INDIA

भारत के नौनिहाल भारत के भविष्य है-बेसिक शिक्षा मंत्री

VS News India | Reporter – Vinay Balmiki | Shravasti : – श्रावस्ती । बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार उ0प्र0 शासन मा0 सतीश द्विवेदी, पूर्व सांसद दद्न मिश्रा, जिलाध्यक्ष शंकर दयाल पाण्डेय ने विकासखण्ड गिलौला के अन्तर्गत प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रागंण में दन्दौली अतिथि गृह का शिलान्यास किया। विद्यालय में लगाये गये सी0सी0टी0वी0 कैमरों का संचालन मा0 मंत्री जी ने किया। सी0सी0टी0वी0 कैमरों का कन्ट्रोल कक्ष प्रधानाध्यापक के कक्ष से होगा। मंत्री जी ने सरस्वती जी के चित्र पर एवं पूर्व ब्लाक प्रमुख बृजनन्दन पाण्डेय के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। मा0 मंत्री जी ने अपने सम्बोधन में कहा कि देश, प्रदेश एवं समाज के विकास में शिक्षा की महती भूमिका है सभी लोग शिक्षित होगें तो निश्चित ही हमारा समाज तरक्की करेगा। भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार हर नौनिहाल को शिक्षित करने हेतु प्रतिबद्ध है इसलिये सरकार अभिभावकों की भूमिका निभाकर उन्हे सभी सुविधाएं मुहैया करा रही है और प्रदेश के कई विद्यालयों प्राथमिक स्कूलों में भी बच्चों को दी जाने वाली शिक्षा की तस्वीर को बदलने का कार्य कर रही है और परिषदीय तमाम विद्यालयों का कायाकलय कराकर कान्वेन्ट के तर्ज पर बच्चों को शिक्षित किया जा रहा है जो गुरूजनों के द्वारा ही कान्वेन्ट के तर्ज पर शिक्षा दी जा रही है जो सराहनीय कदम है।
मंत्री जी ने कहा कि नौनिहाल राष्ट्र के भाग्य विधाता हैं उन्हे शिक्षित कर उनके भाग्य को संवारना सभी गुरूजनों का दायित्व है। सरकार ने जो सभी बच्चों का अभिभावक बनकर उन्हे हर सुविधा मुहैया करा रही है तो गुरूजनों का फर्ज बनता है कि वे अपने कार्य संस्कृति में बदलाव लाकर बाखूबी अपने दायित्व को निभाकर इस जनपद में गिरे शिक्षा के स्तर को उठाने में अपना योगदान दें। गुरूजनों के उपर समाज का जो विश्वास है उस विश्वास को कायम रखने के लिए अब गुरूजनों को चुनौतीपूर्ण रूप से लेना होगा और यह भी ध्यान रखना होगा कि उनके विद्यालय के आस-पास गावों में कोई भी बच्चा शिक्षा के उजियारे से वंचित न रहने पावे। मंत्री जी ने कहा कि भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार बच्चों की शिक्षा हेतु सभी सुविधाएं उपलब्ध करा रही है तो शिक्षा का स्तर नीचे क्यों है इस पर मंथन करने की बात है। प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र/छात्राओं को साफ-सफाई के प्रति जागरूक करें तथा व्यवहारिक ज्ञान भी दिया जाय। इस अवसर पर पूर्व सांसद दद्दन मिश्रा ने अपने सम्बोधन में कहा कि जिस विश्वास के साथ अभिभावक अपने अबोध बच्चे को गुरूजनों को भविष्य संवारने के लिए उनके हवाले किये हैं उस विश्वास पर खरे उतरने का गुरूजनों का फर्ज बनता है। वे उन अबोध कच्चे घड़े को तरास कर उनका भविष्य संवारे ताकि वे उच्च पदों पर आसीन हो सके और अपने परिवार के साथ-साथ समाज और देश का नाम रोशन कर सके। उन्होने कहा कि पूरे भारत वर्ष में इस जनपद का शिक्षा का स्तर जो अन्तिम पायदान पर है जो बहुत ही चिन्ता का विषय है इस कमी को पूरा करने के लिये गुरूजनों को अब दायित्व बोध के साथ अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन करना होगा और गुणवत्तापूर्ण ढंग से हर बच्चे को शिक्षित करना होगा ताकि इस जिले का नौनिहाल भी पढ़ लिख कर देश दुनिया में अपना नाम कर सके।
जनपद में बेहतर कार्य करने वाले 24 शिक्षकों को मा0 मंत्री जी ने प्रतीक चिन्ह तथा साल देकर सम्मानित किया तथा विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया।इस अवसर पर उपजिलाधिकारी इकौना, जिलाध्यक्ष शंकर दयाल पाण्डेय, प्रमुख प्रतिनिधि हरिहरपुररानी सुभाष सत्या, प्रधान मनोज पाण्डेय, किशोरी लाल साहू, राजीव पाण्डेय, मनोज पाण्डेय, रामू पाण्डेय, राजकुमार तिवारी, शिवम कश्यप, प्रकाश चन्द्र, हरीश कुमार, विनोद त्रिपाठी, पंकज मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा, खण्ड शिक्षा अधिकारीगण अखिलेश यादव, सहित जनप्रतिनिधिगण, अन्य अधिकारीगण, अध्यापकगण उपस्थित रहे।

430
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *