पराली जलाने वाले किसानों पर रखी जाएगी सैटेलाईट से नजर, 24 घंटे में होगी एफआईआर दर्ज
Big News HARYANA JIND VS NEWS INDIA

पराली जलाने वाले किसानों पर रखी जाएगी सैटेलाईट से नजर, 24 घंटे में होगी एफआईआर दर्ज

VS News India | Jind : – जींद 28 सितम्बर उपायुक्त डॉ० आदित्य दहिया ने किसानों से कहा है कि वातावरण में प्रदूषण का स्तर बढने से कोरोना वायरस और भी घातक हो सकता है,इसलिए पराली को न जलाकर इसका उपयोग पशुचारे के रूप में करें। ऐसा करने से न केवल खुद की जान बचाई जा सकती है,बल्कि आने वाली पीढियों को भी स्वच्छ एवं स्वस्थ वातावरण उपलब्ध करवाकर दिर्घायु का आशीर्वाद वर्तमान में ही दे सकते है। श्री आदित्य दहिया ने यह आह्वन स्थानीय लघु सचिवालय के सभागार में विभिन्न विभागों के अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए किया है। उन्होंने कहा कि इस बार पराली जलाने वाले किसान जिला प्रशासन की नजर से बच नही पाएगें,क्योंकि सैटेलाईट के माध्यम से पूरी निगरानी रखी जा रही है। अगर जिला में कहीं भी पराली जलने की घटना घटती है,तो इसकी सूचना तुरंत प्राप्त हो जाएगी। उन्होंने स्पष्ट कहा कि माननीय सर्वोच्य न्यायालय द्वारा भी पराली जलाने पर पूर्ण रूप से अंकुश लगाने के निर्देश दिये जा चुके है। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी किसान पराली जलाता है, तो उसके खिलाफ 24 घंटे के अंदर एपआईआर दर्ज करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस बार किसी भी किमत पर पराली नही जलने दी जाएगी। उन्होंने सभी एसडीएम व उप पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिये कि वे अपने-अपने अधीनस्त क्षेत्रों के उन गांवों का दौरा करें ,जो रैड व ओरेंज जॉन में शामिल है। इन गांवों में लोगों को पराली न जलाने बारे जागरूक करें। इन गांवों में विशेष निगारानी रखने के लिए अधिकारियों की डयूटियां भी निर्धारित कर दी गई है। सरपंच,नम्बरदार, पटवारी भी पराली जलाने की घटना पर ध्यान रखे। अगर इस तरह क सूचना मिलती है तो तुरंत नजदीकी पुलिस स्टेशन में इसकी सूचना दें। अगर इस कार्य में लापरवाही बरती जाती है, तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। कम्बाईन मशीनों में एसएमएस सिस्टम की करें जांच: उपायुक्त ने कहा कि सरकार द्वारा बगैर एसएमएसक के कम्बाईनों के चलाने पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगाई गई है। इन आदेशों की अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए पुलिस विभाग के अधिकारी जिला की सीमाओं पर नजर रखें कि कोई भी ऐसी कम्बाईन न आने दे जिसमें एसएमएस न लगा हुआ हो, यही नही जिला के अंदर जो मशीने काम कर रही है,उनकी भी चैकिंग करें और जो मशीनें बगैर एसएमएस की पाई जाएं तो उनके खिलाप तुरंत कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। बैठक में एडीसी डॉ० सत्येन्द्र दुहन, जींद,नरवाना, उचाना उपमंडलों के एसडीएम,सत्यवान मान,संजय बिश्रोई, राजेश कोथ,डीएसपी धर्मबीर सिंह,डीएफएससी व कई विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

179
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *