HARYANA SAFIDON VS NEWS INDIA

सिपाही रविंद्र ने कल ही घर पर आकर छोटे भाई से कहा बीए की अच्छे से पढ़ाई करना मेरी तरह सेटल हो जाएगा

VS News India | Reporter – Sanju | Safidon : – बड़ौदा की भुटाना चौकी में कार्यरत सफीदों के गांव बुड्ढाखेड़ा निवासी सिपाही रविंदर कल ही अपने छोटे भाई को घर पर आकर कह कर गया था कि अब तूने कॉलेज में एडमिशन लिया है। अच्छे से पढ़ाई करना मेरी तरह लाइफ बन जाएगी और तू भी सेटल हो जाएगा। यह कहकर भाई पुलिसकर्मी रविंदर अपने गांव बुड्ढाखेड़ा से सुबह अपने साथी सफीदों हलके के ही गांव कलावती निवासी सिपाही कप्तान नेहरा के पास गया था। छोटा भाई अंकुश ही बाइक पर उसको कलावती छोड़ने गया था।

क्योंकि रविंदर और कप्तान को अपनी रात की ड्यूटी करनी बहुत जरूरी थी। लेकिन उसको इस बात का अंदाजा नहीं होगा कि ड्यूटी की यह रात उनकी आखिरी रात होगी। जब वह गत रात्रि राइडर बाइक पर कप्तान के साथ बड़ौदा- जींद रोड स्थित हरिभूमि कृषि कार्यालय के समीप रात्रि को रुके तो, उन्होंने देखा कि गाड़ी रोक कर कुछ शरारती युवक शराब आदि का सेवन कर रहे थे। जब उनकी किसी बात को लेकर उन शरारती युवकों से कहासुनी हुई तो आरोपी नशेड़ी ने गोलियों मारकर दोनों ही पुलिसकर्मियों का मर्डर कर दिया। दोनों ही पुलिसकर्मी सफीदों उपमंडल के गांव बुड्ढाखेड़ा व कलावती के रहने वाले थे। कलावती का करीब 42 वर्षीय सिपाही कप्तान उसके पिता फौजी जिले सिंह का इकलौता लड़का था। जो कि पहले उद्योगी पुलिस में रहा और उसके बाद सरकार द्वारा करीब 1600 जवानों को निकाल दिया गया था। जिनमे कप्तान भी शामिल था। बाद में कोर्ट केस हटने के बाद कप्तान ने हरियाणा पुलिस को ज्वाइन किया था। जिसकी ड्यूटी पहली बुटाना चौकी पर ही लगी थी।

जिसके पास शादी के बाद एक 16 साल का लड़का है। वही गांव बुड्ढाखेड़ा निवासी रविंदर अनमैरिड था। रविंद्र की मां की करीब दस साल पहले बीमारी के कारण मौत हो गई थी । उस समय रविंद्र की उम्र करीब 15 साल थी और साथ ही उससे छोटी बहन और भाई भी है। उस समय भाई बहन भी छोटे ही थे। रविंद्र के पिता भीम सिंह ने खेती करके अपने लड़के रविंदर को ग्रेजुएट बनाया और अच्छे संस्कारों के साथ उसे 2017 में पुलिस की भर्ती में बेजकर लोगों को सुरक्षा प्रदान करने के पुलिसकर्मी बनाया। रविंद्र का छोटे भाई अंकुश ने अब 12वी करके कॉलेज मे एडमिशन लिया है। वही बहन ने बीए कंप्लीट करके जेबीटी की हुई है।

शहीद हुए दोनों सिपाहियों का राज के सम्मान के साथ संस्कार किया गया इस दौरान शिवपुरी में सोनीपत SP जशनदीप सिंह रंधावा व ips अधिकारी अजीत सिंह शेखावत ने पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। वही कलावती में रविंद्र को dsp वीरेंद्र सिंह dsp जितेंदर द्वारा श्रद्धांजलि दी गई उनकी अंतिम यात्रा में s h o रमेश कुमार, s h o नवीन यादव, एसएस सुखविंदर , एस एच एस सुखविंदर , सज्जन वैसे भी दो एडिशनल एसएचओ छत्रपाल पुलिस टीमों के साथ उपस्थित रहे। कप्तान भाई अमर रहे भारत माता की जय घोष नारों के साथ अंतिम यात्रा को शिवपुरी तक ले जाया गया।

1166
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *