VS News India Search Thumbnail
HARYANA JIND VS NEWS INDIA

जींद व सफीदों के निजी अस्पतालों में अनियमितता पाए जाने पर की छापेमारी

Vs News India | Jind :- कोरोना काल में कालाबाजारी करने वालों पर जिला प्रशासन द्वारा रोडवेज के महाप्रबंधक बिजेन्द्र हुडडा की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है। जो कोविड मरीजों की दवाईयां,ऑक्सीजन सिलेंडर व अस्पतालों द्वारा की जा रही अनियमितताओं पर अंकुश लगाने का काम कर रही है। कालाबाजारी करने वालों पर जिला प्रशासन द्वारा छापामारी अभियान लगातार जारी है।

Bajinder Saini EA3

रविवार को पोर्टल पर सफीदों के पवन कुमार ने शिकायत दी थी कि उसकी रिश्तेदार 38 वर्षीय बबीता देवी  सफीदों के एक निजी अस्पताल में कोरोना पोजिटिव को लेकर गत 19 मई को दाखिल हुई थी। तीन दिन बाद 21 मई को अस्पताल द्वारा मरीज को रोहतक पीजीआई रैफर कर दिया गया था। इस दौरान मरीज के इलाज का अस्पताल द्वारा 53 हजार रूपए का बिल बना दिया गया, जिसमें शिकायत कर्ता द्वारा अस्पताल को 26 हजार रूपए का भुगतान भी किया जा चुका है। यह शिकायत मिलते ही रोडवेज महाप्रबंधक द्वारा, गठित टीम के साथ मिलकर अस्पताल में छापा मारा गया जिसमें अनियमितता मिलने पर अस्पताल संचालक से शिकायत कर्ता को आपसी सहमती से 10 हजार रूपए की राशि वापिस दिलवाई गई। इसी प्रकार जींद के एक निजी अस्पताल में भी ऐसी ही शिकायत जिला प्रशासन को मिली इस में शिकायत कर्ता कृष्णलाल ने शिकायत दी थी कि 17 मई को जींद के निजी अस्पताल में कोरोना संक्रमण का इलाज करवाने के लिए दाखिल हुआ था, अस्पताल द्वारा एक लाख रूपए से ज्यादा की राशि का बिल बनाया गया है।

Singhs Computer Education Assandh Ad

इसमें श्री हुडडा की अध्यक्षता में गठित टीम द्वारा कार्रवाई करते हुए शिकायत कर्ता व अस्पताल की आपसी सहमती से 60 हजार रूपए की राशि दिलवाई गई । श्री हुडडा ने बताया कि इसके अलावा राज्य सरकार द्वारा बीपीएल कोविड मरीजों के इलाज में दी जाने वाली सहायता राशि का लाभ भी मरीज को दिलवाया गया। महाप्रबंधक ने लोगों से आहवान किया कि कोरोना मरीजों के इलाज को लेकर अगर कोई भी अस्पताल मनमानी करता है तो उसकी शिकायत जिला प्रशासन को दें। अनियमितता मिलने पर अस्पताल के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।  

86
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *